NARCOTICS CONTROL BUREAU
MINISTRY OF HOME AFFAIRS
GOVERNMENT OF INDIA

पुरस्कार नीति

स्वापक औषधों के अवैध व्यापार के बारे में सूचना देने वाले व्यक्तियों को प्रोत्साहन देने के विषय में भारत सरकार ने पुरस्कार योजना को सूत्रबद्ध किया है। स्वापक नियंत्रण ब्यूरो देश में राज्य प्रवर्तन अभिकरणों द्वारा कार्यान्वित स्वापक औषधों तथा मनःप्रभावी पदार्थों की जब्ती के संबंध में पुरस्कार प्रस्तावों के प्रचलन तथा स्वीकृति के लिए एक नामित अभिकरण है। स्वापक नियंत्रण ब्यूरो की पुरस्कार समिति, पुरस्कार प्रस्तावों पर विचार करने के लिए प्रत्येक माह अपनी बैठक करती है।

राज्य सरकारों तथा अन्य प्रवर्तन अभिकरणों से अपेक्षा है कि वे राज्य पुरस्कार समितियां गठित करें जो पुरस्कार योजना में निर्धारित अनुदेशों के आधार पर 10,000/- रु. तक प्रत्येक अधिकारी को प्रति मामले के आधार पर पुरस्कार स्वीकृत एवं अदा कर सकें। राज्य सरकारें प्रतिपूर्ति के दावे स्वापक नियंत्रण ब्यूरो को तीन माह में एक बार ऐसे बिलों को प्रस्तुत करके कर सकती हैं। प्रवर्तन अभिकरणों की पुरस्कार समितियां ऐसे पुरस्कारों की सिफारिश, विचार तथा स्वीकृति के लिए स्वापक नियंत्रण ब्यूरो को कर सकती हैं जहां पुरस्कार प्रतिव्यक्ति 10,000/- रु. से ज्यादा देय तथा प्रस्तावित हो।

 

पदार्थ-वार देय पुरस्कारों की मात्रा इस प्रकार है :

पदार्थ

अधिकतम पुरस्कार (प्रति कि0ग्रा0)

निर्धारित शुद्धता

हेरोइन और इसके लवण

20,000/- रु

डायएसिटिल मोरफिन का 90% या अधिक

मोरफिन आधारित और इसके लवण

8,000/- रु

एनहाइड्रस मोरफिन का 90% या अधिक

कोकीन और इसके लवण

40,000/- रु

एनहाइड्रस कोकीन का 90% या अधिक

हशीश

400/- रु

4% टी एच सी अंश के साथ या अधिक

हशीश तेल

2000/- रु

20% टी एच सी अंश के साथ या अधिक

अफीम

220/- रु

मोरफिन क्षमता की 9.5% मानक अफीम

गाँजा

80/- रु

वाणिज्यिक रुप से स्वीकार्य गांजा होना चाहिए

मैन्ड्रेक्स

500/- रु

मेथाकुअलोन की उपस्थिति

 * पुरस्कार की राशि को, यदि शुद्धता निर्धारित स्तर से कम हो तो आनुपातिक रूप से कम कर दिया जाएगा ।